Kis desh ki company hai Flipkart? | फ्लिपकार्ट कंपनी की जानकारी

Flipkart दोस्तों आपने यह नाम तो ज़रुरु सुन्हा होगा क्युकी आज हम ऑनलाइन जो कुछ भी शॉपिंग करते है उसमे Flipkart इस वेबसाइट का महत्वा पूर्ण स्थान है।

 

आज भारत में Amazon, Misho Flipkart जैसे सबसे सस्ता ऑनलाइन शॉपिंग ऍप देखने मिलते है? मगर हम ज्यादातर Flipkart का इस्तेमाल करना पसंद करते है। 

 

Flipkart हमें ऑनलाइन शॉपिंग प्लेटफार्म (Website-App) पर हमें काफी सस्ते और अच्छे प्रोडक्ट देखने मिलते है और हर महीने Flipkart पर तरह तरह की ऑफर्स की की वजह से हम महँगी महँगी चीज की सस्ते में खरीद पाते है। 

 

Big Billion Days की Offer में तो Iphone जैसी महंगे स्मार्टफोन पर हमें काफी ज्यादा Discount देखने मिलता है, इस तरह के काफी सारे फायदे हमें Flipkart पर देखने मिलते है। 

 

दोस्तों आज हम फ्लिपकार्ट के बारे कही सारी जानकारी लेने वाले है और आपको बताएँगे की flipkart kis desh ki company hai? Flipkart Company  का भारत आखिर क्या रिश्ता है? Flipkart का इतिहास, इस कम्पनी के मालिक और भी बहोत कुछ बस आप हमारे Article पर आखरी तक जुड़े रहे। 

 

 

ये भी पढ़े:

 

 

 

Flipkart किस देश की कंपनी है?

 

दोस्तों Flipkart Private Limited (Flipkart.com) यह एक भारतीय E-Commerce (ई-वाणिज्य) कंपनी है, Flipkart Company का मुख्यालय बंगलुरु (कर्णाटक) साथ ही सिंगापूर में स्थित है।

 

दोस्तों आपको बता दू की Flipkart E-Commerce कंपनी या वेबसाइट के तहद इलेक्ट्रॉनिक्स, फैशन, होम एसेंशियल, किराने के सभी तरह के समापन और खाद्य पदार्थ, इस तरह के सभी तरह उत्पादनो के बिक्री के लिए जानी जाती है।

 

Flipkart ने शुरू में सिर्फ Online Book बेचने पर लक्ष केंद्रित किया था मगर आगे चलके लोगो की बढ़ती डिमांड और प्रतियोगिता को देखकर Flipkart सभी तरह के प्रोडक्ट बेचने लगी है।

 

दोस्तों आज साल 2022-2023 में Flipkart पर सिर्फ कपडे, किराना ही बल्कि टू-व्हीलर, इलेक्ट्रॉनिक बाइक्स, प्रोडक्ट लोन, ऐसी और भी कही तरह की सेवाएं हमें बेचती है।

 

आज भारत में विदेशी कंपनी Amazon ने अपनी पकड़ बना कर राखी और फ्लिपकार्ट इसका सबसे बड़ा प्रतियोगी माना जाता है, आगे के कुछ सालो में हमें Flipkart की और से और भी काही सरे सेवाएं देखने मिलेंगी जो की हमारा काम और वक़्त और आसान, कम कर देंगी। 

 

 

 

Flipkart कंपनी के बारे में

 

Flipkart Kis Desh Ki Company Hai 

स्थापना 2007
मुख्यालय बंगलुरु (कर्णाटक) भारत, सिंगापूर (Legal Domicile)
मालिक बिन्नी भंसल, वालमार्ट
सीईओ कल्याण कृष्णमूर्ति
मूल कंपनी वालमार्ट
उत्पाद इलेक्टॉनिक्स, फैशन, होम इसेंशियल इत्यादि
वेबसाइट flipkart.com 

 

 

 

Flipkart कंपनी का मालिक कौन है?

 

दोस्तों Flipkart कंपनी की स्थापना IIT, दिल्ली के पूर्व छात्र और Amazon के पूरा कर्माचारि सचिन बंसल (Sachin Bansal) और बिन्नी बंसल (Binny Bansal) द्वारा साल 2007 में की गई थी। 

 

इसलिए अगर हम बात करे Flipkart के संस्थापक और मालिक की तो सचिन भंसल और बिन्नी भंसल यही फ्लिपकार्ट कंपनी के संस्थापक है और शुरवात में यही Flipkart कंपनी के मालिक थे। 

 

दोस्तों Amazon जैसी कंपनी के साथ अपने वेवसाइक वॉर को देखते Flipkart के सभी शेयर होल्डर ने Flipkart की 77% हिस्सेदारी अमेरिकन रेटियल चैन कंपनी Walmart बेच दिया जिसके बाद Flipkart का 77% की हिस्सेदारी और निंयत्रण की अधिग्रहण किया है।    

 

 

 

Flipkart कंपनी की कुल संम्पत्ति और हिस्सेदारी

 

दोस्तों बात करे Flipkart के कुल संपत्ति और हिस्सेदारी की तो Flipkart ने अपने स्थापना के वक़्त कंपनी का विकास बजट ४ लाख रुपये था (5,000 $) इसके बाद कही सारी कंपनियों ने Flipkart में निवेश किया था जैसे की फर्मों एक्सेल इंडिया ने एक मिलियन, टाइगर ग्लोबल ने 20 मिलियन (2011) और भी कही बड़ी बैंक और विदेशी कम्पनियो ने Flipkart में फंडिंग की थी जिसके वजह से Flipkart E-Coomerce क्षेत्र में उतर पाई थी। 

 

साल 2018 में अमेरिकन रिटेलर कंपनी Walmart ने Flipkart में  77% हिस्सा 16 Billion में लिया था उस वक़्त Flipkart कंपनी का मूल्य 20 Billion था।

 

बात करें साल 2022 की तो Flipkart की कुल मूल्य (Total Valuation) 37.6 Billion है जोकि इसे भारत की सबसे बड़ी E-Commerce कंपनी बनती है। 

 

 

 

Flipkart के टॉप शेयर होल्डर 

 

Walmart 72%
Tencent 5.3%
Tiger Global 4.1%
Binny Bansal 2.4%
CPPIB 2.2%
Soft Bank Group 1.4%
QIA 1.3%
Microsoft 1.2%
Accel 1.1%

 

 

 

 

Flipkart कंपनी का इतिहास

 

  • दोस्तों Flipkart की शुरवात, स्थापना भारतीय दो दोस्त सचिन बंसल और बिन्नी बंसल ने साल 2007 में बंगलुरु, कर्णाटक, भारत में की थी। 
  • साल 2002 में सचिन बंसल और बिन्नी बंसल ने एक Comparesion Search Engine बनाने के बारे में सोचा जिसमे इस Search Engine की मदत से तरह के वस्तुओ को एक दूसरे से तुलना करने में आसानी जासके। मगर तब ही उन्हें भारतीय बाजार में ई-कॉमर्स क्षेत्र में एक बड़ा अंतर देखा और अपनी ई-कॉमर्स साइट, फ्लिपकार्ट स्थापित करने के लिए अमेज़ॅन वेब सर्विसेज में अपनी नौकरी छोड़ दी।
  • दोस्तों Flipkart शुरवाती दिनों में एक पूर्ण E-Commerce वेबसाइट नहीं थी बल्कि सचिन और बिन्नी ने फ्लिपकार्ट वेबसाइट के ज़रिये किताबे बेचना शुरू किया क्युकी उस समय भारत में इलेक्ट्रॉनिक्स, फैशन या घरेलू वस्तुओं के विक्रेताओं को ढूंढना थोड़ा कठिन हुआ करता था. यहां तक कि बुक्स विक्रेता भी शुरुआत में Flipkartजैसी इंटरनेट-आधारित सेवा में अपना भरोसा पूरी तरह से नहीं रख सके. उस समय सचिन बंसल ने कंपनी के CEO के रूप में कार्यभार संभाला था। 
  • साल 2009 तक Flipkart की लोकप्रियता काफी बढ़ने लगी थी इसलिए बड़ी बड़ी कंपनिया Flipkart में निवेश करने के लिए दिलचस्पी दिखा रही थी। साल 2009 में ही एक निवेश फर्म, Accel Partners से $ 1 मिलियन डॉलर निवेश किये थे। उस समय, कंपनी के पास 150 से अधिक कर्मचारी थे, और पूरे भारत में कुल तीन कार्यालय थे. उस वर्ष के अंत में, वे कुल 40 मिलियन रुपये की किताबें बेचने में सक्षम थे।
  • साल 2012 में Flipkart ने अपनी खुद की Online Music Streaming Service:Flyte को लॉंच किया था मगर उस समाये Internet की कमी, Internet Data की बढ़ती कीमत, Smartphone की कमियों की वजह से यह सेवा अगले ही साल Flipkart ने बंद कर दी थी।
  • उसी वर्ष, कंपनी ने लगभग 12.5 बिलियन रुपये में Online Electronics Retailer Letsbuy का अधिग्रहण किया, जिसने उनके व्यवसाय को और बढ़ावा दिया. उस वर्ष, फ्लिपकार्ट ने भारत में शीर्ष 20 ई-रिटेलर्स की सूची में पहला स्थान हासिल किया।
  • 2013 वर्ष में Flipkart ने PayZippy नामक एक भुगतान गेटवे सिस्टम लॉन्च किया, लेकिन अगले वर्ष इसे बंद कर दिया। 
  • साल 2014 में, Flipkart ने अपने पोर्टफोलियो में फैशन और लाइफस्टाइल श्रेणी को जोड़ने के लिए $ 330 मिलियन डॉलर के लिए भारतीय ई-कॉमर्स कंपनी Myntra खरीद लिया था। आज Myntra भारत की सबसे बड़ी Online Fashion और Life Style आधारित वेबसाइट कही जाती है।
  • साल 2016 में, Flipkart ने Jabong नमक, एक और भारतीय फैशन का अधिग्रहण किया था जो की लगभग $ 60 मिलियन के लिए जीवन शैली आधारित ई-कॉमर्स व्यवसाय था। 
  • वर्ष 2017 में, Flipkart ने एक Online Payment Service को लाने के लिए भारत के UPI- आधारित भुगतान स्टार्ट-अप PhonePe को ख़रीदा था।
  • साल 2018 अगस्त में American Retailar कंपनी Walmart ने $16Billion के लिए Flipkart में 77% हिस्सेदारी खरीदी, जिससे कंपनी का मूल्यांकन $ 20 बिलियन से अधिक हो गया था। अधिग्रहण के दौरान, फ्लिपकार्ट के सह-संस्थापक Sachin Bansal ने SoftBank, eBay और Naspers के साथ मिलकर वॉलमार्ट को अपनी पूरी हिस्सेदारी बेच दी।

 

 

ये भी पढ़े:

 

 

समापन

 

तो दोस्तों हमने फ्लिपकार्ट की सभी तरह की जानकारी आपको देने की कोशिश की है और बताया की flipkart kis desh ki company hai? साथ हि Flipkart का मालिक, Flipkart की कुल मूल्य और हिस्से दारी, हमने Flipkart की थोड़ी बहोत इतिहास भी बताने की कशिश की है जिससे आप बेहद आसानी से समझ पाएंगे। 

 

दोस्तों मैं उम्मीद करता हूँ की आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा, लेख से सम्भधींत आपका कोई भी सवाल या सुझाव होतो कमेंट करके ज़रूर बताना धन्यवाद, जय हिन्द। 

Leave a Comment