हार्डवेयर एंड सॉफ्टवेयर में क्या अंतर बताईए? | हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर की परिभाषा स्पष्ट करे

कंप्यूटर हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर में अंतर, प्रकार और उपयोग | Computer Hardware & Software-Types, Difference, Uses 

हार्डवेयर एंड सॉफ्टवेयर में अंतर बताइए
हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर में क्या अंतर है 

दोस्तों अगर आपके पास कोई लैपटॉप, कंप्यूटर या फिर मोबाइल फ़ोन होंगा तो अपने कही बार हार्डवेयर– Hardware या सॉफ्टवेयर-Software इन दोनों का नाम तो सुन्हा ही होगा। अगर हमारे किसी भी कंप्यूटर मशीन में किसी भी तरह की तकलीफ आती है तब हमें हमारी कंप्यूटर मशीन में दो ही तरह की परेशानी दिखाई देती है एक तो हार्डवेयर की या फिर सॉफ्टवेयर की। 

 

आप में से ऐसे बहोत से लोग होंगे जिन्होंने कभी भी हार्डवेयर या सॉफ्टवेयर का नाम ना सुन्हा हो या फिर आप हमेशा कही न कही किसी न किसी वजह से इन के बारे में सुनते होंगे मगर आपको पता नहीं रहता है की अखर ये हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर चीज़ है क्या। 

 

आपके इस परेशानी को दूर करने के आज हम  हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर से संबधित ऐसे बहोत से बाते पे चर्चा करने वाले है जिसे पढ़कर आपको हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर संबधित बहोत सी बातो का ज्ञान प्राप्त होंगा। तो चलिए दोस्तों देखते है की ये हार्डवेयर क्या है, सॉफ्टवेयर क्या है और हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर में क्या-क्या अंतर है। 

 

कंप्यूटर हार्डवेयर क्या है | What Is Computer Hardware In Hindi 

 
 
हार्डवेयर तथा सॉफ्टवेयर में क्या अंतर है-1

किसी भी कंप्यूटर मशीन के अंदरूनी हिस्सों को जिसे हम छु सकते है।  या फिर जिसका  भैतिक स्वरुप से अस्तित्व होता है उसे हम हार्डवेयर कहते है। Computer, Mobile Phone, Smart Gadgets इन सभी को बनाने के लिए हमें जो महत्वा पूर्ण पुर्जे लगते है उसे हार्डवेयर कहते है। 

 

हार्डवेयर के उदारहण 

मदरबोर्ड, CPU, कीबोर्ड, स्पीकर्स, बैटरी, डिस्प्ले, वायर्स, मशीन के अलग अलग पार्ट्स 

हार्डवेयर के प्रकार | Types of Hardware 

 

हार्डवेयर में हमें बाहरी और अंदुरनी हिस्से में कही तरह के कॉम्पोनेन्ट देखने मिलते है जिनका काम अलग अलग होता मगर इन सरे पुर्ज़ो को एक सामान काम दिया जाता है एक तो किसी चीज को अपने आप में लेना हो या फिर अपनी तरफ से किसी चीज़ को बहार भेजना हो जिसे हम Input और Output कहते है। इन्ही बातो का ध्यान रखते हुए हम Computer machine में लगने वाले अलग अलग पुर्जे के हिसाब से उनके प्रकार के बारे में बात करे वाले है। 

 

 हार्डवेयर के तीन सबसे मुख्या प्रकार :-

  • इनपुट डिवाइस | Input Device 
  • आउटपुट डिवाइस | Output डिवाइस 
  • स्टोरेज डिवाइस | Storage Device 

इनपुट डिवाइस | Input Device

हार्डवेयर के इन प्रकार के पुर्ज़ो की मदत से कंप्यूटर मशीन को अलग अलग तरह का डेटा भेजा या प्रदान किया जाता है। हम इस तरह के डिवाइस से  छवि, ध्वनि, टेक्स्ट इस तरह के काफी प्रकार का डेटा कंप्यूटर में भेज सकते है। 

उदा- माउस, कीबोर्ड, टचपैड, स्कैनर इत्यादि। 

 

आउटपुट डिवाइस | Output Device 

हार्डवेयर के इस प्रकार के पुर्ज़ो हम कंप्यूटर के होने वाले बाइनरी कोड को अलग अलग तरह के डेटा के प्रकार में बदल कर हासिल सकते है। जैसे की हमें कोई चीज़ देखनी हो तो उसे हम कंप्यूटर के मॉनिटर की मदत से देख सकते  है या फिर स्पीकर की मदत से किसी भी ध्वनि को सुन सकते है, इस तरह के कही प्रकारो के आउटपुट डिवाइस की मदत से हम कंप्यूटर के डेटा को अलग अलग माध्यम से पा सकते है। 

उदा- मॉनिटर, प्रिंटर, हेडफोन, स्पीकर इत्यादि। 

 

स्टोरेज डिवाइस | Storage Device 

 
हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर को परिभाषित करे
स्टोरेज डिवाइस – ये ऐसे डिवाइस हैं जो डेटा को स्टोर करने में मदद करते हैं और आगे प्राथमिक और माध्यमिक मेमोरी में विभाजित होते हैं। RAM (रैंडम एक्सेस मेमोरी) प्राथमिक मेमोरी है और यह केवल तभी डेटा को बरकरार रखता है जब कंप्यूटर चालू होता है। 
 
सभी निर्देशों को CPU और APU के माध्यम से मेमोरी को पढ़ा और निष्पादित किया जाता है। द्वितीय मेमोरी सीधे कभी प्रोसेसर से सवाद नहीं करती बल्कि इन्हे हम अपने मुताबिक इस्तेमाल कर सकते है जिसे दो प्रकार में विभाजित किया गया है। 
उदा- हार्ड डिस्क, रैम, SD Card, पेनड्राइव इत्यादि। 
 

इंटरनल स्टोरेज डिवाइस | Internal Storage Device 

 इस तरह के डिवाइस हमें कंप्यूटर के अंदर दखाई देते है जैसे की – Hard Disk 

 

एक्सटर्नल स्टोरेज डिवाइस | External  Storage Device 

इस तरह के डिवाइस हम स्वतंत्र देखने मिलते है जिसे हम कंप्यूटर में लगा कर डेटा की अदन प्रदान कर सकते है जैसे की – External Hard Disk, SD Card, Pen drive, CD 

कंप्यूटर सॉफ्टवेयर क्या है | What Is Computer Software In Hindi 

 
 
What Is Computer Software In Hindi

किसी भी कंप्यूटर मशीन के कार्य को करवाने के लिए उसे सही मार्ग देने के लिए या फिर अलग अलग प्रोग्राम का उपयोग करके कार्य में मदत करने के लिए हम जिस आभासी वस्तुओ का इस्तेमाल करते है उसे हम सॉफ्टवेयर कहते है। 

 

सॉफ्टवेयर यह एक कंप्यूटर मशीन का एक सेट होता है जिसके मदत से उपयोग करता कंप्यूटर से बात-चित कर सकते है यानि की अपने मन मुताबिक उसे वे हर चीज़ करवा सकते है जिसे हमने माशिम में प्रोग्राम किया हुआ है। 

 

कंप्यूटर सॉफ्टवेयर के उदाहरण 

ऑपरेटिंग सिस्टम, ऐप्स- Chrome, WhatsApp, True caller, बूट प्रोग्राम इत्यादी।

सॉफ्टवेयर के प्रकार | Types Of Software In Hindi 

तकनिकी दुनिया में हमें कही प्रकार के सॉफ्टवेयर देखने मिलते है जिसकी मदत से हम कंप्यूटर हो या स्मार्टफोन उन्हें अच्छी तरह से इस्तेमाल कर सकते है या फिर उंनसे इन्ही सॉफ्टवेयर की मदत से संवाद भी कर सकते है। सॉफ्टवेयर के मुख्या रूप में हमें कुछ ऐसे प्रकार देखने मिलते है जिसकी मदत से हम कंप्यूटर मशीन से विवध प्रकार के काम कर सकते है। 

 

 सॉफ्टवेयर को मुख्या रूप से तीन प्रकार में विभाजित किया गया है। 

  • सिस्टम सॉफ्टवेयर | System Software 
  • प्रोग्रामिंग सॉफ्टवेयर | Programming Software 
  • अप्लीकेशन सॉफ्टवेयर | Application Software 

सिस्टम सॉफ्टवेयर | System Software 

सिस्टम सॉफ्टवेयर उपयोगकर्ता और कंप्यूटर के बीच एक मध्य परत के रूप में कार्य करता है।  वे कंप्यूटर में सभी हार्डवेयर घटकों के साथ संवाद करते हैं और सीपीयू, मेमोरी और अन्य उपकरणों को भी नियंत्रित करते हैं। जब हम कंप्यूटर पर Switch करते हैं तो सिस्टम सॉफ्टवेयर पहला एप्लिकेशन होता है जो Initialized होता है और इसलिए यह पूरे कंप्यूटर सिस्टम को मैनेज करता है।

 
 यह सिस्टम सॉफ्टवेयर मेमोरी में लोड होता है और बैकग्राउंड में चलता रहता है। इसमें हमें दो मुख्य प्रकार के सिस्टम सॉफ्टवेयर देखने मिलते है जिसमे एक ऑपरेटिंग सिस्टम और दूसरा यूटिलिटी सॉफ्टवेयर होता है। यूटिलिटी सॉफ्टवेयर एक ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ स्थापित है। दोनों सॉफ्टवेयर एक दूसरे पर निर्भर हैं और स्वतंत्र रूप से काम नहीं करते हैं। 
 
उदा – विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम, एंड्राइड ऑपरेटिंग सिस्टम, IOS ऑपरेटिंग सिस्टम इत्यादि।

प्रोग्रामिंग सॉफ्टवेयर | Programming Software

यह सॉफ्टवेयर आमतौर पर कंप्यूटर प्रोग्रामर द्वारा उपयोग किया जाता है। अधिकांश इंटरनेट एप्लिकेशन Java, HTML, Python या PHP को प्रोग्रामिंग भाषा के रूप में उपयोग करते हैं। प्रोग्रामिंग भाषा का उपयोग करके सभी सॉफ्टवेयर प्रोग्राम और एप्लिकेशन विकसित और परीक्षण किए जाते हैं। इसके मदत से हमें अप्लीकेशन सॉफ्टवेयर देखने मिलते है। 

अप्लीकेशन सॉफ्टवेयर | Application Software 

एप्लिकेशन सॉफ्टवेयर का उपयोग आमतौर पर कंप्यूटर मशीने के किसी भी तरह के कार्य करने के लिए या फिर कसी भी तरह का टास्क पूरा करने के लिए  किया जाता है। जीते भी विंडोज ऐप जैसे की MS-Word, Adobe, Photoshop, एंड्राइड ऐप- Google Chrome, WhatsApp, games यह सभी अप्लीकेशन सॉफ्टवेयर है। 

हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर में क्या अंतर है? | What Is Different Between Hardware & Software In Hindi 

 

अब आपको तो समझ ही गया होंगा की आखिर हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर कहते किसे है।  हमने यह बात तो जानली मगर दोनों की ऐसे बहोत सी बाते है जो हार्डवेयर की और से होती है और बहोत सी बाते है जोकि सॉफ्टवेयर की तरफ से होती है। तो इन्ही दोनों में होने वाली या फिर दोने के सटीक कार्य के बारे बात करेंगे की आखिर दोनों के कार्य में क्या क्या अंतर होता है।

अंतरहार्डवेयर (Hardware)सॉफ्टवेयर (Software)
अंतरव्याख्याहार्डवेयर (Hardware)हार्डवेयर यह एक कंप्यूटर के विभिन्न भागों का प्रसंस्करण हिस्सा है, जिसे हम छु सकते है।सॉफ्टवेयर (Software)सॉफ्टवेयर हार्डवेयर को दिए गए कामो के निर्देश देता है, जो की सॉफ्टवेयर के काम आभासी तरीकेसे से चलते है।
अंतरप्रोसेसरहार्डवेयर (Hardware)निर्माण किया जाता है।सॉफ्टवेयर (Software)विकसित किया जाता है।
अंतरकार्य प्रदर्शनहार्डवेयर (Hardware)सॉफ्टवेयर के बिना नहीं कर सकता।सॉफ्टवेयर (Software)हार्डवेयर के बिना निष्पादित किया नहीं जा सकता ।
अंतरव्यवहारहार्डवेयर (Hardware)भौतिक उपकरण, देखा और छुआ जा सकता है।सॉफ्टवेयर (Software)इस्तेमाल किया जा सकता है और महसूस किया जा सकता है। मगर छुआ नहीं जा सकता।
अंतरवायरसहार्डवेयर (Hardware)वायरस से प्रभावित नहीं होता।सॉफ्टवेयर (Software)वायरस से प्रभावित हो सकता है।
अंतरअवयवहार्डवेयर (Hardware)आंतरिक घटक, इनपुट डिवाइस, आउटपुट डिवाइस, स्टोरेज इत्यादि।सॉफ्टवेयर (Software)सिस्टम सॉफ्टवेयर, प्रोगरामिंग सॉफ्टवेयर, अप्लीकेशन सॉफ्टवेयर इत्यादि।
इस तरह आप अपने किस भी तरह के इलेक्ट्रॉनिक्स गजैट्स को हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर इन भागो में परिभाषित कर सकते हो। 

 

समापन 

 
ऊपर बताये गए सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर के विभिन्न कार्य और स्थिति के मदत से आपको दोनों में क्या क्या अंतर है और दोनों ही सॉफ्टवेयर- हार्डवेयर किस तरह से काम करते है यह सारी बाते पता चल गई होंगी।
 
 किसी भी कंप्यूटर मशीन (Computer, Laptop, Mobile Phone, Smart Gagdet) के कार्य करने के लिए जितना महत्व हार्डवेयर को होता है उतना ही महत्व सॉफ्टवेयर का भी होता है।  इसलिए बिना सॉफ्टवेयर की कोई भी कंप्यूटर मशीन काम नहीं कर सकती। और कसी भी सॉफ्टवेयर को बिना हार्डवेयर की मदत से विकसित या चलाया जा नहीं सकते। 
 
तो दोस्तों अब आपको समझ गया होगा की हार्डवेयर क्या है? सॉफ्टवेयर क्या है? हार्डवेयर एंड सॉफ्टवेयर में क्या अंतर है? और हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर की क्या परिभाषा है? मैं आशा करता हूँ की आपको हमारे इस आर्टिकल से मदत मिली होंगी, इस आर्टिकल से संबधित अगर आपका कोई सुझाव या सवाल होतो कमेंट करने ज़रूर बताना शुक्रिया जय हिन्द। 
ये भी पढ़े

Leave a Comment